Neptune Planet in Hindi – नेप्चून ग्रह को वरुण ग्रह भी कहा जाता है।:-

यह ग्रह सूर्य से दूरी से आठवां ग्रह है। व्यास के आधार पर नेप्चून ग्रह चौथा सबसे बड़ा ग्रह है। आइये जानते हैं नेप्चून ग्रह के बारे में रोचक जानकारी

1 . नेप्चून ग्रह (Neptune Planet) सूर्य सेदूरी लगभग 4. 5 अरब किलोमीटर दूरी पर परिक्रमा करते हुए नीले रंग के इस ग्रह की खोज सन 1889 में हो गई थी।

2 . नेप्चून ग्रह (Neptune Planet) का भू मध्य रेखा का घेरा 155 , 600 किलोमीटर है और भू मध्य रेखा का व्यास 49 528 किलोमीटर है।
3 . नेप्चून ग्रह (Neptune Planet) सूर्य की परिक्रमा 164 . 79 वर्षों में पूरी करता है और अपनी धुरी पर एक चक्कर पूरा करने के लिए 16 घंटे 7 मिनट का समय लेता है।
4 . नेप्चून ग्रह की बनावट बिल्कुल युरेनस ग्रह की तरह है युरेनस की तरह नेप्चून ग्रह भी चटानो और और बर्फ़ से बना है परन्तु नेप्चून ग्रह का रंग युरेनस से ज्यादा नीला है।
5 . नेप्चून ग्रह का नाम प्राचीन लोगों के समुन्द्र देवता नेप्चून पर रखा गया है प्राचीन भारत में यही स्थान वरुण देवता है इसीलिए इसे वरुण ग्रह भी कहा जाता है।
6 . नेप्चून ग्रह के अभी तक 14 उपग्रह खोजे गए हैं जिसमे से सबसे बड़ा उपग्रह ट्राइटन है। ट्राइटन ब्रह्मण्ड का सातवाँ सबसे बड़ा उपग्रह है। यह उपग्रह नाई ट्रोजन से बना हुआ है।
7 . नेप्चून ग्रह के लगभग चार छल्ले हैं पृथ्वी पर इन छल्लों को दुरवीन से देखने पर यह छल्ले टूटे हुए दिखाई देते हैं।
8 . सिर्फ एक यान ही अभी तक नेप्चून ग्रह पर पहुँच पाया है वायेजर 2 अन्तरिक्ष में नेप्चून ग्रह पर छोड़ा गया था यो 1989 में इस ग्रह पर पहुंचा था जिसने इस ग्रह के बारे में बहुत एहम जानकारी प्राप्त की और इसके उपग्रहों की तस्वीरें भी खींची।
9 . नेप्चून ग्रह की पृथ्वी से दूरी बहुत ज्यादा होने के कारण यह ग्रह नंगी आखों से केवल एक टिमटिमाते तारे की तरह नजर आता है।
10 . नेप्चून ग्रह की सतह का तापमान – 220 डिग्री सेन्टीग्रेड है। नेप्चून ग्रह का अक्ष इसकी परिक्रमा पथ से 30 डिग्री तक झुका हुआ है था इस ग्रह पर 41 सालों तक एक जैसा ही मौसम रहता है।