शुक्र ग्रह के बारे में रोचक तथ्य – Venus Planet Facts:-

• Venus Planet Facts – शुक्र ग्रह सौर मंडल का आकार में छठवां सबसे बड़ा ग्रह है। शुक्र ग्रह सूर्य और चन्द्रमा के बाद सबसे अधिक चमकने बाला ग्रह है।
• शुक्र ग्रह को सूर्य का एक चक्र पूरा करने में लगभग 225 दिनों का समय लगता है वो भी पृथ्वी के दिनों के हिसाब से और अपनी धुरी का एक चक्र पूरा करने में इसे 245 दिनों का समय लगता है।
• शुक्र ग्रह की सूर्य से दुरी तकरीवन 10 करोड़ 82 लाख किलोमीटर तक है।
• शुक्र ग्रह का भू मध्य रेखा का घेरा लगभग 38,025 किलोमीटर है ।
• शुक्र ग्रह का कोई भी उपग्रह नहीं हैं। इस ग्रह पर सल्फुरिक एसिड के बादलों की मोटी – मोटी परतें कई किलोमीटर तक फ़ैली हुई हैं यो इस ग्रह की सतह को पूरी तरह ढक लेती हैं जिसके कारन इस ग्रह पर 350 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड ( speed ) से हवाएं चलती रहती हैं।
• शुक्र ग्रह का वायुमंडल बहुत घना है यो कार्बन डाईओकसाइड और नाईट्रोज़न की मात्रा से बना हुआ है। शुक्र ग्रह का वायुमंडल दवाव धरती के वायुमंडल दवाव से तकरीवन 92 गुना ज्यादा पाया जाता है। इस तरह का दवाव धरती पर समुंदर की एक किलोमीटर की गहराई में पाया जाता है।
• सन 1961 में रूस दुयारा वेनीरा वन स्पेस शुक्र ग्रह पर छोड़ा गया परन्तु अंतरिक्ष में जाने के बाद इससे संपर्क टूट गया था जिसके कारन यह मिसन असफल रहा था। इसके बाद अमेरिका का मेनीनर 1 भी शुक्र ग्रह पर पहुंचने में असफल रहा था। इसके बाद अमेरिका दुयारा मेनीनर 2 भेजा गया जो शुक्र ग्रह पर जाने में कामयाब रहा और इसने ग्रह के बारे में बहुत सारी जानकारी इक्कठी की। अब तक तकरीवन 20 से भी ज्यादा स्पेस मिसन शुक्र ग्रह पर जा चुके हैं।
• शुक्र ग्रह पर धरती के तरह ही ज्वालामुखी पाए जाते हैं और इसके 100 किलोमीटर के दायरे में तकरीवन 166 के आसपास ज्वालामुखी हैं।
• शुक्र ग्रह पर सोवियत का यान वेनेरा 3 सन 1 मार्च 1966 को दुर्घटना ग्रस्त हो गया था यह अन्तरिक्ष में किसी ग्रह से टकराने बाली मानव की पहली वस्तु थी। इसके बाद 18 अक्टूबर 1966 को वेनेरा 4 इस ग्रह पर जाने में सफल रहा था।
• शुक्र ग्रह को रोमन और ग्रीक के लोग दो ग्रह मानते थे ग्रीक में सुबह दिखने बाले तारे को Phasphorus और शाम को दिखने बाले तारे को Hosporus कहते थे।
• शुक्र ग्रह का तापमान लगभग 463 डिग्री सेल्सियस है यानि के 864 डिग्री Fahrenheit .